logo
21 अक्टूबर 2021
21 अक्टूबर 2021

चुनाव

दुबौलिया में नामांकन के दौरान फायरिगं, गौर में प्रत्याशी की पिटायी

Posted on: Thu, 08, Jul 2021 9:29 PM (IST)
दुबौलिया में नामांकन के दौरान फायरिगं, गौर में प्रत्याशी की पिटायी

हर्रैया, बस्तीः ब्लॉक प्रमुख के लिए गुरूवार को नामांकन के दौरान दुबौलिया में जहां भाजपा समर्थित प्रत्याशी तथा सपा समर्थित प्रत्याशी की ओर से समर्थकों द्वारा कई राउण्ड फायरिंग की गई वहीं गौर में नामाकंन करने पहुंचे बागी प्रत्याशी को भाजपाईयों ने नामांकन से मना किया। बवाल के दौरान पुलिस ने भाजपाईयों पर लाठी चार्ज किया जिसके वे ब्लॉक गेट के सामने धरने पर बैठ गए।

मौके पर पहुंची जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल तथा पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने समझा-बुझाकर भाजपाईयों को शान्त कराया। मामले में पुलिस अधीक्षक ने थानाध्यक्ष समशेर बहादुर सिहं को लाइन ाजिर कर दिया। गौर में नामांकन के लिए प्रशासन द्वारा प्रातः 11 बजे से एक बजे तक भाजपा प्रत्याशी तथा दोपहर एक बजे से तीन बजे तक निर्दल प्रत्याशी को नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए समय दिया गया था। समय अनुसार अरविन्द सिंह अपनी पत्नी विजय कान्ती तथा अपने भाई की पत्नी अंजली सिंह के साथ ब्लॉक परिसर में नामांकन करने पहुंचे तो भाजपाईयों ने छीटाकसी शुरू कर दी।

इतना ही नही उन्हें नामांकन करने से मना किया जाने लगा। बात आगे बढी तो भाजपाई उनके ऊपर टूट पड़े। पुलिस ने काफी बीच बचाव किया लेकिन भाजपा के लोग काफी गुस्से में थे। मजबूरन पुलिस को भाजपाईयों पर लाठी चार्ज करना पड़ा। नाराज भाजपाई ब्लॉक गेट पर धरने पर बैठ गए और पुलिस प्रशासन के विरूद्ध नारेबाजी करने लगे। मौके पर मौजूद उप जिलाधिकारी सुखबीर सिंह तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी शेषमणि उपाध्याय ने अतिरिक्त पुलिस बल बुला लिया। सूचना पर पहुंची जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने समझा-बुझाकर भाजपाईयों को शान्त कराया।

पुलिस अधीक्षक द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए गौर के थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर कर दिया गया। दुबौलिया में भाजपा समर्थित उम्मीदवार विनय सिंह सोनू नामांकन करने के बाद वापस लौट रहे थे। उसी दौरान प्रमुख पद प्रत्याशी गीता यादव तथा तालेवन यादव अपने सैकड़ो समर्थकों के साथ पहुंच गई। दोनों के समर्थक आमने-सामने हुए तो एक-दूसरे पर छीटाकसी शुरू कर दिया। इसी दौरान सरोज सिंह ही नामांकन करने के लिए अपने समर्थकों के साथ पहुंची। उनके साथ भी नोंक-झोंक हुआ। बात आगे बढी तो एक-दूसरे पर लाठी, डण्डा, ईंट, पत्थर बरसाने लगे।

बवाल के दौरान दोनों पक्षों से कई राउण्ड फायरिंग की गई जिसमें गीता यादव के समर्थक एकडेंगवा निवासी 22 वर्षीय श्याम सुन्दर तथा नटवाजोत निवासी सागर गोली लगने से घायल हो गए। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज चल रहा है। बवाल के समय दुबौलिया पुलिस खड़ी असहाय दिख रही थी। प्रत्याशियों के समर्थक रामजानकी मार्ग पर काफी देर तक डटे रहे। सूचना पर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के अलावा, अपर पुलिस अधीक्षक दीपेन्द्र कुमार चौधरी, अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र, तहसीलदार चन्द्र भूषण प्रताप तथा कप्तानगंज, नगर एवं हर्रैया के थानाध्यक्ष भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को काबू किया। साथ ही अधिकारियों द्वारा गीता यादव तथा सरोज सिंह का नामांकन पत्र दाखिल कराया गया।


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।