• Subscribe Us

logo
09 अगस्त 2022
09 अगस्त 2022

विज्ञापन
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।
सेहत/प्राकृतिक चिकित्सा

वरदान साबित हो रहा है बस्ती का अर्चना हॉस्पिटल

Posted on: Sun, 09, Jan 2022 6:16 PM (IST)
वरदान साबित हो रहा है बस्ती का अर्चना हॉस्पिटल

बस्ती, 09 जनवरी। शहर के पचपेड़िया मार्ग पर स्थिति मल्टीस्पेशिलिटी अर्चना हॉस्पिटल मरीजों के लिये वरदान साबित हो रहा है। यहां गैर जनपदों और मंडलों के मरीज इलाज कराने पहुंच रहे हैं। अस्पताल में न्यूरो एक्सपर्ट डा. के.के. दूबे अस्पताल को हफ्ते में दो दिन अपनी सेवायें दे रहे हैं। उनकी देशरेख में अब तक कई मरीजों को जीवनदान मिल चुका है। ताजा मामला 9 साल के दीपक से जुड़ा है। हॉस्पिटल के फाउण्डर अमरमणि पाण्डेय ने मामले का जिक्र करते हुये कहा दीपक 9 दिसंबर को चलती ट्रॉली से नीचे गिर गया था। उसके सर पे गंभीर चोट आयी।

घरवालों ने बच्चे को तुरंत जिला अस्पताल पहुंचाया और वहां सी टी स्कैन कराया गया। वहां समुचित इलाज का प्रबंध न होने के नाते उसे लखनऊ के लिए रिफर कर दिया गया। बच्चे के स्वजनों ने उसे बस्ती शहर के बड़े बड़े नामचीन अस्पतालों में दिखाया। उसके सिर में 17 टाके लगे थे। स्थिति गंभीर होने के नाते किसी निजी अस्पताल ने उसे एडमिट नहीं किया। किसी ने अर्चना हॉस्पिटल के बारे में बताया कि वहां न्यूरो के जाने माने डाक्टर की सेवायें उपलब्ध हैं जो एम्स में अपनी सेवायें दे चुके हैं।

बच्चे का अर्चना हॉस्पिटल लाया गया जहां न्यूरो के डॉक्टर के के दुबे की टीम ने बालक का गहन परीक्षण किया। उसे एडमिट किया गया, 9 दिनों तक इलाज चला। अब बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। सबसे बड़ी बात ये है कि सिंर में गंभीर चोट लगने के बावजूद बालक का कोई आपरेशन नही हुआ, वह दवाइयों से ठीक हो गया। अमरमणि पाण्डेय व हॉस्पिटल के अन्य चिकित्सकों ने बालक के स्वस्थ व सफल जीवन की कामना की है। छतिराम और संगीता का 9 वर्षीय बालक दीपक बस्ती जनपद के सोनहा थाना क्षेत्र के छपिया खास गांव का रहने वाला है।


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।