logo
24 नवंबर 2020
24 नवंबर 2020

सेहत/प्राकृतिक चिकित्सा

जानलेवा डेंगू मच्छर से करें बचाव

Posted on: Fri, 30, Oct 2020 10:13 AM (IST)
जानलेवा डेंगू मच्छर से करें बचाव

डेंगू जानलेवा हो चुका है। डेंगू बुखार एक फ्लू जैसी बीमारी है, जो डेंगू वायरस के कारण होती है। यह तब होता है, जब वायरस वाला एडीज मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है। इस मच्छर के ऊपर धारी बनी होती है। हर साल लगभग 5,00,000 लोग इस बीमारी से प्रभावित होते हैं और मृत्यु दर 2.5 प्रतिशत होती है। यानी इसमे करीब 12,500 लोग अपनी जान गंवा देते हैं।

जब कोई व्यक्ति मच्छर से संक्रमित होता है, तो वायरस रक्त में 2 से 7 दिनों के लिए फैलता है। ऐसा होने पर व्यक्ति को सिरदर्द, हड्डी व जोड़ों में दर्द, जी मचलाना, उल्टी आना, त्वचा पर लाल चकत्ते होना जैसे लक्षण नजर आते हैं। आप खुद ही जागरूक होकर आप इस बुखार से खुद और दूसरों का बचाव कर सकते हैं। बस्ती के जिला अस्पताल में तैनात आयुष चिकित्साधिकारी डा. वी.के. वर्मा कहते हैं कि डेंगू के लिए कोई विशिष्ट दवा उपलब्ध नहीं है। डेंगू से बचाव ही सफल उपाय है। ऐसे में आप को अपनी स्किन को ढककर रखना चाहिये जिससे मच्छर के काटने की संभावना काफी कम हो जाती है। पूरी बाजू की शर्ट, टीशर्ट व लंबी पैंट पहनें आपको मच्छरों से बचा सकती है। डेंगू के मच्छर सुबह व शाम को अत्यधिक सक्रिय होते हैं, इसलिए जहां तक हो सके, इस समय बाहर जाने से बचें।

क्रीम का करें इस्तेमाल

बस्ती के नवयुग मेडिकल सेण्टर के डा. अभिजात कुमार ऐसी क्रीम का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं जो मच्छरों को आपसे दूर रखे। आप हर दिन इस क्रीम का इस्तेमाल करें। अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है तो ऐसे में मच्छर को भगाने के लिए मॉस्किटो पैच या रोलऑन आदि का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। मच्छरदानी से भी बचाव किया जा सकता है।

व्यक्तिगत स्वच्छता जरूरी

डा. कुमार कहते हैं आपको कोई भी वायरस संक्रमित ना कर पाए, इसके लिए जरूरी है कि आप व्यक्तिगत स्वच्छता का ख्याल रखें। कीटाणुओं को खुद से दूर रखने के लिए हाईजीन व साफसफाई का पूरी तरह ख्याल रखें।

आसपास मच्छर न पनपने दें

आयुष चिकित्साधिकारी डा. वी.के. वर्मा कहते हैं ठहरे हुए पानी में अक्सर डेंगू के मच्छर पनपते हैं, इसलिए घर में मौजूद खाली बाल्टियों को पलट दें ताकि उनमें पानी इकट्ठा ना हो सके। पानी के भंडारण के लिए उपयोग की जाने वाली बाल्टियाँ और ड्रमों को ढक कर रखें। यह भी सुनिश्चित करें कि आपके प्लांटर में ओवर वाटरिंग ना हो। टूटे हुए सेप्टिक टैंकों की मरम्मत करें और यदि कोई टूटा हुआ हो तो तार की जाली के साथ वेंट पाइप को कवर करें।

यदि आपके पास घर पर कूलर है, तो सुनिश्चित करें कि आप इसे नियमित रूप से साफ करते हैं। डस्टबिन को साफ रखें, गंदगी को इकट्ठा न होने दें। घर में रखें टायरों में मच्छर पनपते हैं, इसलिये फालतू चीतें इकट्ठा करने से बचें। गमलों में छिड़काव करते रहें। कपूर को घर में जरूर जलाएं, यह मच्छरों को दूर रखने में मदद करेगा। साथ ही मच्छरदानी के नीचे सोएं। इस बुखार में प्लेटलेट्स बहुत तेजी घटते हैं जो आगे चलकर जानलेवा हो सकते हैं। होमियोपैथी में यूपीटोरियम पर्स प्लेटलेट्स बढ़ाने में काफी मददगार होता है। डा. वर्मा कहते हैं डेंगू के लक्षण प्रतीत होने पर तत्काल चिकित्सक से संपर्क करना चाहिये।