logo
24 नवंबर 2020
24 नवंबर 2020

सेहत/प्राकृतिक चिकित्सा

83 गांवों में लाभार्थियों तक पहुंचाएंगे गोल्डेन कार्ड

Posted on: Sun, 01, Nov 2020 3:55 PM (IST)
83 गांवों में लाभार्थियों तक पहुंचाएंगे गोल्डेन कार्ड

बस्ती, जिले में रविवार से तीन अलग-अलग विशेष अभियान का आगाज हुआ। सक्रिय क्षय रोगी खोजी अभियान (एसीएफ) 11 नवम्बर तक चलेगा, जबकि विशेष टीकाकरण अभियान पूरे जनवरी माह तक चलेगा। आयुष्मान भारत योजना के तहत पहली नवम्बर को 83 गांवों में लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बनाए जाने की शुरूआत हुई।

यह ऐसे गांव हैं जिनमें किसी भी लाभार्थी के पास गोल्डेन कार्ड नहीं था। जिला क्षय रोग अधिकारी (डीटीओ) डॉ. सीएल कन्नौजिया ने बताया कि इस बार अभियान के तहत 2.83 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके गुप्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए तीनों अभियान का शुभारंभ हुआ है।

ऐसे चलेगा एसीएफ कैंपेन

इस बार एसीएफ कैंपेन के दौरान मेडिकल टीम दो गज दूरी बना कर लक्षण पूछेंगी। टीम के सभी सदस्य मॉस्क, ग्लब्स, हैंडकैप और सैनेटाइजर से लैस रहेंगे। डीटीओ ने बताया कि अगर कोई कोरोना मरीज मिलता है जिसमें टीबी के भी लक्षण हैं तो कोरोना रिपोर्ट निगेटिव हो जाने के बाद उसकी टीबी जांच की जाएगी। उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. एके वर्मा, जिला कार्यक्रम समन्वयक अखिलेश त्रिपाठी अभियान के दौरान व्यापक प्रचार-प्रसार की निगरानी करेंगे। एसीएफ की जो टीम किसी नये टीबी मरीज को खोज लेगी उसके प्रत्येक सदस्य को 200 रुपए प्रोत्साहन राशि मिलेगी।

अभियान की सफलता के लिए हुई डीटीएफ

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि की डीएम आशुतोष निरंजन की अध्यक्षता व सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका की मौजूदगी में तीनों अभियानों के बारे में कलक्ट्रेट सभागार में ड्रिस्ट्रिक्ट टॉस्क फोर्स (डीटीएफ) की बैठक शनिवार शाम को हुई, जिसमें सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि कोविड-19 के कारण तीनों कार्यक्रमों पर जो नकारात्मक प्रभाव आए हैं उनकी क्षतिपूर्ति इन्हीं अभियानों के माध्यम से की जाए। तीनों अभियानों में आशा कार्यकर्ता की भूमिका बेहद अहम है और आम जनमानस को उनका सहयोग करना चाहिए।