• Subscribe Us

logo
27 सितम्बर 2022
27 सितम्बर 2022

विज्ञापन
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।
साक्षात्कार शख्सियत / व्यक्तित्व / लेख

मोटीवेशनल ‘‘सफलता एक पौधा है तो लक्ष्य ऑक्सीजन’’

Posted on: Sat, 30, Apr 2022 12:01 AM (IST)
मोटीवेशनल ‘‘सफलता एक पौधा है तो लक्ष्य ऑक्सीजन’’

दोस्तों आज का टॉपिक है लक्ष्य का चयन। जीवन में बिना लक्ष्य के काम करने वाले लोग हमेशा सफलता से दूर रह जाते हैं। आप ऐसे लोगों के बारे में पता करें जो कामयाब हुये हैं तो आपको मालूम होगा कि उन्होने अपना एक लक्ष्य तय किया होगा और उस पर पूरी एकाग्रता से आगे बढ़े होंगे। जो छात्र अपना लक्ष्य बना कर चलते हैं वो बहुत जल्दी अपनी मंजिल को प्राप्त कर लेते हैं। क्यूंकि उन्हें पता है कि उन्हें किस रास्ते पर जाना है। जरा सोविये आपके हाथ में तीर धनुष हो तो आप निशाना कहां लगायेंगे। जाहिर बात है इसके लिये आपको अपना टारगेट फिक्स करना पड़ेगा।

टारगेट फिक्स करने के बाद निशाना लगाना आसान हो जायेगा। आपने वो कहानी सुनी होगी, कुछ लोग सड़क पर दौड़ रहे थे, वे जिस चौराहे से गुजरते कुछ लोग उनके पीछे दौड़ने लगते थे। काफी दूर जाकर आगे वाला आदमी रूका तो पीछे दौड़ रहे लोगों ने पूछा भाई दौड़ क्यों लगा रहे हो, उसने कहा फिट रहने के लिये डाक्टर ने हमे रोजाना सुबह 2 किमी, दौड़ने की सलाह दिया है। दोस्तों अगर सफलता एक पौधा है तो लक्ष्य ऑक्सीजन है, आज हम इसी पर बात करेंगे कि लक्ष्य कितना महत्वपूर्ण है और सफलता में इसका क्या रोल होता है।

लक्ष्य एकाग्र बनाता है

अगर हमने अपने लक्ष्य का निर्धारण कर लिया है तो हमारा दिमाग दूसरी बातों में नहीं भटकेगा क्यूंकि हमें पता है कि हमें किस रास्ते पर जाना है ? बिना लक्ष्य के किया हुआ काम व्यर्थ ही रहता है। कभी देखा है की एक कांच का टुकड़ा धूप में किस तरह कागज को जला देता है वो एकाग्रता से ही सम्भव है।

प्रगति का मापक है लक्ष्य

सोचिये की आपको एक 500 पेज की किताब लिखनी है, अब आप रोज कुछ पेज लिखते हैं तो आपको पता होता है कि मैं कितने पेज लिख चूका हूँ या कितने पेज लिखने बाकि हैं। इसी तरह लक्ष्य बनाकर आप अपनी प्रगति को माप सकते हैं और आप जान पाएंगे कि आप अपनी मंजिल के कितने करीब पहुंच चुके हैं। बिना लक्ष्य के न ही आप ये जान पाएंगे कि आपने कितना प्रगति किया है और न ही आपको ये पता चलेगा कि आप मंजिल से कितनी दूर हैं ?

लक्ष्य आपको बांधकर रखता है

जब हम अपना लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो हम मानसिक रूप से बंध से जाते हैं जिसकी वजह से हम फालतू की चीज़ों पर ध्यान नहीं देते और पूरा समय अपने काम को देते हैं। मान लिया आपका इण्टरव्यू सुबह 9.30 बजे से है। इसमे आप समय से पहुंचना चाहते हैं, यदि आपने इण्टरव्यू में पहुंचने को सर्वोच्च प्राथमिकता में लिया है तो कहीं एक मिनट समय भी खराब नही करना चाहेंगे।

लक्ष्य आपको प्रेरित करेगा

हर आदमी की कामयाबी के पीछे किसी की प्रेरणा होती है लेकिन लक्ष्य व्यक्ति को सबसे ज्यादा प्रेरित करता है। जब भी कोई व्यक्ति सफल होता हैं, अपनी मंजिल को पाता है तो एक लक्ष्य ही होता है जो उसे आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। आपका लक्ष्य आपका सपना आपको उमंग और ऊर्जा से भरपूर रखता है। तो साथियों यह गांठ बांध लीजिये बिना लक्ष्य के आप कितनी भी मेहनत कर लो सब व्यर्थ ही रहेगा। जब आप अपनी पूरी ताकत किसी एक लक्ष्य पर लगाओगे तो निश्चत रूप से सफलता आपके कदम चूमेगी। - लेखक अशोक श्रीवास्तव ‘संपादक मीडिया दस्तक न्यूज’


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।