logo
14 अप्रैल 2021
14 अप्रैल 2021

साक्षात्कार शख्सियत / व्यक्तित्व / लेख

वृद्धाश्रम पहुंचे डा. वर्मा, कहा जलाभिषेक से भी ज्यादा फलदायी है वृद्धजनों की सेवा

Posted on: Sat, 13, Mar 2021 4:00 PM (IST)
वृद्धाश्रम पहुंचे डा. वर्मा, कहा जलाभिषेक से भी ज्यादा फलदायी है वृद्धजनों की सेवा

बस्तीः प्रख्यात समाजसेवी, जिला अस्पताल में तैनात आयुष चिकित्साधिकारी एवं पटेल एस.एम.एच. हॉस्पिटल सहित कई सामाजिक संस्थाओं के संस्थापक डा. वी.के. वर्मा ने महाशिवरात्रि का पर्व अपने अंदाज में मनाया। वे अपनी पत्नी और नाती के साथ बनकटा स्थित वृद्धाश्रम पहुंच गये। उन्होने यहां बुजुर्ग महिलाओं और पुरूषों का स्वास्थ्य परीक्षण किया और उनके बीच फल, मिठाई आदि वितरित किया। उन्होने मीडिया दस्तक को बताया कि सेवा और सहायता जरूरतमंदों की होनी चाहिये। अपात्रों की न तो मदद करनी चाहिये और न ही उन्हे मदद मांगनी चाहिये।

कोई क्षमतावान है तो उसकी क्षमता का दुरूपयोग नही होनी चाहिये जिससे वह जरूरतमंदों के लिये बंची रहे। डा. वी.के. वर्मा ने कहा वृद्धाश्रम में सेवायें देकर कई शिवालयों में माथा टेकने से ज्यादा आत्मसंतुष्टि मिली। उन्होने उन सभी को धन्यवाद दिया जिनकी वजह से वे ऐसे लोगों की सेवा और सहायता के लिये सक्षम हुये हैं। आपको बता दें डा. वर्मा तीन दशक से ज्यादा समय से अहर्निशं भाव से स्वास्थ्य सेवायें दे रहे हैं। डा. वर्मा ने 150 बेड की क्षमता वाले सुविधायुक्त पटेल एसएमएच हॉस्पिटल की स्थापना की जिसमे मरीजों से कोई बेड चार्ज, परामर्श शुल्क नही लिया जाता।

मात्र दवा के पैसों से उन्होने एक कमरे के हॉस्पिटल को 150 बेड की क्षमता वाला हॉस्पिटल बना दिया, साथ ही डा. वीके वर्मा इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस की स्थापना की। इतना ही नही दवा के पैसे में भी मरीजों का राहत देते हुये अक्सर उन्हे देखा जा सकता है। उन्होने स्वास्थ्य सेवाओं के इतर गौतम बुद्ध मुराली देवी बालिका इण्टर कालेज, गौतम बुद्ध कन्या पू.मा. विद्यालय-गोटवा, श्री श्यामलाल वर्मा पू.मा. विद्यालय-लोहरौली तथा गौतम बुद्ध विद्या मन्दिर गोटवा की स्थापना कर ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा की अलख जगाई। इन सभी संस्थानों में बहुत कम शुल्क पर छात्र छात्राओं को गुणवत्तापरक शिक्षा दी जा रही है।