• Subscribe Us

logo
24 मई 2022
24 मई 2022

विज्ञापन
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।
साक्षात्कार शख्सियत / व्यक्तित्व / लेख

सावधानी से मनायें पर्व, जोश में होश न गंवाइये

Posted on: Fri, 18, Mar 2022 10:07 AM (IST)
सावधानी से मनायें पर्व, जोश में होश न गंवाइये

अशोक श्रीवास्तव- देशभर में होली का पर्व हर्ष और उल्लास के वातावरण में मनाया जा रहा है। हम चाहेंगे कि इस पर्व पर आपकी खुशियां कई गुना बढ़ जायें। लेकिन हम आपको सावधान भी करना चाहेंगे। दरअसल यह रंगों का त्योहार है और रंग लगाते समय लोग अक्सर सावधानियां भूल जाते हैं। ऐसा तब होता है जब आप पूरे जोश में होते हैं और होश गंवा देते हैं। बाजार में बेहद खतरनाक रंग बेंचे जा रहे हैं।

बेहतर होगा आप हर्बल रंगों का इस्तेमाल करें। इसके बावजूद आप रंगों के दुष्प्रभाव से बचने के लिये इन उपायों का जरूर अपनायें। कई बार ऐसा होता है जब जरा सी चूक के कारण पर्व की खुशियां मातम में बदल जाती है और इस चूक का आजीवन अफसोस रहता है। आइये हम कुछ सावधानियों के बारे में बताते हैं जिन्हे अपनाकर आप खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

कैसे सुरक्षित रखें

होली खेलने से पहले ऑलिव ऑयल या सरसों का तेल हल्का गुनगुना करके दो-दो बूंद अपने कानों में डाल लें। उसके बाद ऊपर से रूई (कॉटन) को लगाकर कान बंद कर दें, लेकिन इतना अंदर न लगाएं कि कॉटन कान के अंदर ही चला जाए।

प्रेग्नेंट औरतें क्या करें

सिंथेटिक होली के रंगों में हानिकारक पदार्थ होते हैं। स्किन और रेस्पिरेटरी सिस्टम के अंदर जैसे ही ये जाते हैं, गंभीर रिएक्शन और एलर्जी क्रिएट करते हैं। कई बार ब्लड के जरिए भी रंग गर्भ में पहुंच जाते हैं। इससे बच्चे का ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित हो जाता है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिलाओं को रंग खेलने से बचना चाहिए। बेहतर होगा वे सिर्फ तिलक लगाकर ही होली सेलिब्रेट करें।

सावधानी बरतें

1. आरामदायक सूती कपड़े पहनें। 2. बिना फिसलन वाले जूते पहनें। 3. भांग व शराब न पिएं। 4. अपने आप को हाइड्रेट रखें। 5. रंगों से कोई एलर्जी हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 6. रंग खा लिया है तो उल्टी न करें, मुंह धोकर डॉक्टर के पास जाएं। 7. पूरे शरीर पर नारियल का तेल लगाएं।

आंखों को रबचाएं

1. होली खेलते वक्त चश्मा लगाएं जिससे आंखों में रंग न जा पाए। 2. आंखों का अच्छे से ध्यान रखें, सिंथेटिक रंगों से आंखों को नुकसान पहुंच सकता है। 3. कॉन्टैक्ट लेंस को निकालकर होली खेलें, उसमें रंग फंस सकता है, जिससे खतरनाक केमिकल आंखों को चोट पहुंचा सकता है। 4. पानी के गुब्बारों से आंखों का बचाव करें, उससे गंभीर चोट पहुंच सकती है। इससे कॉर्नियल आंसू, दर्दनाक मोतियाबिंद, ग्लूकोमा और रेटिना डिटैचमेंट हो सकता है।


ब्रेकिंग न्यूज
UTTAR PRADESH - Basti: जानलेवा हमले के तीन आरोपी गिरफ्तार कवि सम्मेलन मुशायरे में सम्मानित हुई विभूतियां ट्रक चालकांं में जांच के साथ वितरित हुआ चश्मा ऋण माफ कराने की मांग ओ लेवल एवं सीसीसी कंप्यूटर प्रशिक्षण के निये आवेदन 28 मई तक अनुसूचित जाति के व्यक्तियों को शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाया जाय- धीरेन्द्र कुमार वाल्मीकि पिछले साल का रिकार्ड तोड़ने में जुटे परसा जागीर के सहायक अध्यापक मुसहा विद्यालय पर पहुंचे पूर्व खंड शिक्षाधिकारी का हुआ स्वागत ज्येष्ठ मास के द्वितीय बड़े मंगलवार को भण्डारे में उमड़ी आस्था सांसद हरीश द्विवेदी ने किया 5 दिवसीय नेत्र शिविर, चश्मा वितरण का समापन अवैध बस स्टैण्ड संचालकों के खिलाफ हो रही कार्यवाही वाल्टरगंज सुगर मिल की समस्याओं को लेकर डीएम ने की बैठक 12 से 17 साल के बच्चों का हो शतप्रतिशत कोविड टीकाकरण- डीएम ‘‘मेरी अशेष यात्रा’’ पुस्तक का परिचय कार्यक्रम सम्पन्न, सभी ने सराहा सराहनीयः सड़क दुर्घटना में मृत लेखपाल के परिवार को साथियों ने दी 1.77 लाख की मदद Gorakpur: आशा की सजगता और ईएमटी की तत्परता से एंबुलेंस में हुआ सुरक्षित प्रसव Lucknow: नई रणनीति के साथ निकाय चुनाव में उमरेगी कांग्रेस, भावी प्रत्याशियों से मांगी गयी 300 समर्थकों की लिस्ट