logo
07 मई 2021
07 मई 2021

Uttaranchal

असमय मौतों पर संवेदना भी व्यक्त करने को तैयार नही मोदी सरकार

Posted on: Fri, 23, Dec 2016 11:49 PM (IST)
असमय मौतों पर संवेदना भी व्यक्त करने को तैयार नही मोदी सरकार

अल्मोड़ा: (कुदन शर्मा) अल्मोड़ा में आयोजित जन आशीष रैली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाॅधी ने कहा कि नोटबन्दी के निर्णय के बाद देशभर में 100 लोगो की मृत्यु हुई है। कांग्रेस व विपक्ष के नेताओं ने लोकसभा स्पीकर से माॅग की, कि दोनो सदनों में इन असामयिक मौतों पर दो मिनट का मौन रखकर उन्हें याद श्रद्धांजलि दी जाये। लेकिन हमारी माॅग को ठुकराकर इसकी अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि गरीब लोग कुछ बनाने में अपनी जिन्दगी लगा देते है। नोटबन्दी से मोदी जी ने गरीबो, किसानो, मजदूरो, मध्यम वर्ग पर चोट की है।

उन्होंने नोटबन्दी के असर पर शायर बशीर बद्र की ‘‘लोग टूट जाते है एक घर बनाने में तुम तरस नहीं खाते बस्तियाॅ जलाने में‘‘ तथा फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन की फिल्म के गीत ‘‘अपना तो बस यही सपना राम नाम जपना पराया माल अपना‘‘ का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी देश से भ्रष्टाचार मिटाना चाहती है लेकिन नोटबन्दी से मोदी आर्थिक डकैती की है। मोदी जी से हमने तीन माॅग रखी जिनमें किसानो के कर्ज माॅफी, बिजली बिल की आधी माफी तथा किसानों के आनाज का वाजिब दाम दिया जाना शामिल है। मोदी जी इनमें एक भी मांग नहीं मान रहे है लेकिन उन्होने 15 परिवारो का 1.40 लाख करोड़ का कर्ज माफ कर दिया है।

हिन्दुस्तान का काला धन ईमानदार लोगो के पास नहीं है पूरा कालाधन कैश में नहीं है, और सारा कैश कालाधन नहीं है। काला धन रियल स्टैट, जमीन और स्वीश बैंकों में है। 94 प्रतिशत काला धन 50 परिवारों के पास है, जबकि 06 प्रतिशत पर निशाना साधा जा रहा है। मोदी जी ने अपना निशाना 06 प्रतिशत ईमानदार, गरीबों को बनाया है। हम लोगों को 14 घंटे के बजाय 24 घंटे बिजली दे रहे है। 2018 तक सभी गांव सड़क से जोड देंगे।