• Subscribe Us

logo
27 सितम्बर 2022
27 सितम्बर 2022

विज्ञापन
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।
समाचार > संपादकीय

ऐसे चलेंगे तो कैसे कम होंगे सड़क हादसे ?

Posted on: Fri, 20, May 2022 10:12 AM (IST)
ऐसे चलेंगे तो कैसे कम होंगे सड़क हादसे ?

बस्ती, 20 मई। सड़क सुरक्षा को लेकर प्रतिवर्ष अनेक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। स्कूलों में जाकर बच्चों तक को जागरूक किया जाता है। इसमें पुलिस महकमे के अधिकारी और समाजसेवी संगठन बढ़चढकर हिस्सा लेते हैं, रोजाना चालान हो रहे हैं, बावजूद इसके सड़क हादसे कम नही हो रहे हैं। लोगों के भीतर ट्राफिक सेंस खत्म होता जा रहा है। बस पहले निकल जाने की होड़ सड़कों पर हर जगह दिखाई देती है।

कई बार लोग इसी चक्कर में अपनी जान गंवा रहे हैं। रफ्तार तो कोई कम नही करना चाहता है, बल्कि साइड नही मिली, गाड़ी में ब्रेक लगाना पड़ा या फिर पहले कोई दूसरा निकल जाये तो लोगों का चेहरा देखने लायक रहता है। बस 5 सेकंड में ही वे गुस्से से ला हो जाते हैं, शायद इसी कारण दुर्घटनायें हो रही हैं। शराब पीकर गाड़ी चलाना, गाड़ी चलाते हुये मोबाइल पर बात करना, बगैर इंडीकेट किये अचानक मुड़ जाना, तेज गति से आ रहे वाहन के सामने अचानक अपनी गाड़ी मोड़ देना, ओवरलोड चलना, ये सब गंदी आदतें आम हो गयी हैं। 20 मिनट कहीं सड़क पर खड़े हो जाइये तो ऐसे अपगिनत उदाहरण मिल जायेंगे।

प्रायः देखा जाता है जो लोग दूसरों को जागरूक करते हैं वे खुद ही नियमों का पालन नही करते। ऐसे में उनका उपदेश कितना असरकारक होगा आप जान सकते हैं। हालांकि जेब्रा क्रासिंग का न होना, सड़क के गड्ढे, अतिक्रमण, सड़कों के किनारे बिल्डिंग मैटेरियल्स का स्टाक रखना, छुट्टा जानवर और पथ प्रकाश की कमी भी सड़क हादसों का कारण है। अभी हाल में ही जनपद के रूधौली कस्बे में एक्सीडेंट हुये हैं। आये दिन यहां दुर्घटनायें हो रही हैं। भानपुर मोड़ सहित यहां कई डैंजरस प्वाइन्ट हैं जहां दुर्घटनायें आम बात हैं।

जिम्मेदारों को यह स्वीकार करना होगा कि सिर्फ जागरूकता से हादसे कम नही होंगे, सड़क पर कुछ सुविधाओं का होना बहुत जरूरी है। यदि वे इन सुविधाओं को महैया करा पायें तो हादसों में कमी आ सकती है। संदर्भित चित्र रूधौली से हमारे संवाददाता अनूप बरनवाल ने भेजा है। आप देख सकते हैं बाइक पर दो बच्चों सहित 4 सवारियां जा रही हैं। बीच में बोरा भी है। बच्चे ने बैग टांग रखा है। इस ओवरलोड बाइक को अचानक नियंत्रित करना होगा तो बाइक बेकाबू होकर कहीं न कहीं जा भिड़ेगी और सड़क हादसों की लिस्ट में एक और हादसा जुड़ जायेगा। परिवार पर जो बज्रपात होगा उसका अनुभव स्वजनों को ही होगा। बेहतर होगा ऐसे जोखिम लेने से बचें और खुद के साथ दूसरों को भी सुरक्षित यात्रा का अधिकार दें।


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।