logo
21 अक्टूबर 2021
21 अक्टूबर 2021

सेहत/प्राकृतिक चिकित्सा

दूसरी डोज का टीका लगवाने के लिए आगे आएं लोग, 14.32 लाख को लगा है पहला डोज

Posted on: Tue, 12, Oct 2021 9:22 PM (IST)
दूसरी डोज का टीका लगवाने के लिए आगे आएं लोग, 14.32 लाख को लगा है पहला डोज

बस्ती, 12 अक्टूबर। कोविड टीके की दूसरी डोज लगवाने के लिए लोगों को आगे आने की अपील स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार की जा रही है। टीके की दोनों डोज लगवाने के बाद ही लाभार्थी को पूर्ण प्रतिरक्षित होता है। इसके बाद उसे ऑनलाइन प्रतिरक्षित होने का प्रमाण पत्र भी जारी होता है। जिले में लगभग सवा लाख लोग ऐसे हैं, जिन्हें टीके की दूसरी डोज लगाया जाना अभी बाकी है।

जिन लोगों को टीके की दूसरी डोज लगाई जानी है उनमें कुछ लोग तो ऐसे हैं, जिनका दूसरी डोज के लिए निर्धारित समय से छह माह से ज्यादा समय बीत चुका है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण एक बड़ी मुहिम है। इस समय जबकि कोरोना के केस नहीं है, स्वास्थ्य विभाग का मुख्य फोकस है, लाभार्थियों को शत-प्रतिशत टीके की दोनों डोज लगवा दी जाए। दिसम्बर 2021 तक इसके लिए समय सीमा निर्धारित की गई है। लोगों में इसके लिए जागरूकता जरूरी है। जनपद में 16 जनवरी 2021 से कोविड का टीकाकरण शुरू हुआ है।

पहले चरण में हेल्थ केयर वर्कर्स व दूसरे चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोविशील्ड व कोवैक्सीन का टीका लगाया जाना शुरू किया गया। पहले चरण में कोविशील्ड का दूसरा डोज भी कोवैक्सीन की तरह 28 दिन में ही लग रहा था, जिसे बढ़ाकर अब 84 दिन कर दिया गया है। टीकाकरण का दायरा बढ़ाकर अब इसमें 18 साल पूर्ण कर चुके सभी लोगों को शामिल किया जा चुका है। जिले में अब तक लगभग 12 लाख लोगों को कोविड का टीका लगाया जा चुका है। पहली डोज का टीका लगाने वालों को दूसरी डोज के निर्धारित दिवस पर मोबाइल पर मैसेज भेज कर बुलाया जाता है। दूसरी डोज का टीका लगने के बाद ऑनलाइन ही इन लोगों को पूर्ण टीकाकरण का प्रमाणपत्र भी जारी किया जाता है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एफ हुसैन का कहना है कि दूसरी डोज का टीका न लगवाने वालों में हेल्थ केयर वर्कस के साथ-साथ 45 साल वाले तक बड़ी संख्या में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 20 हजार से ज्यादा लोगों को कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगनी है। इसमें कुछ लोगों का ड्यू डेट से 40 दिन से ऊपर हो चुका है। इसी प्रकार कोविशील्ड टीके की दूसरी डोज के ड्यू डेट वालों की संख्या एक लाख से ज्यादा है। उन्होंने बताया कि कोविड का एक डोज का टीका लगवाने के बाद आदमी सुरक्षित तो हो जाता है, लेकिन दूसरी बूस्टर डोज लग जाने के बाद कोविड से होने वाले नुकसान की आशंका नहीं के बराबर रह जाती है। प्रतिरक्षित लोगों की मृत्यु के मामले काफी कम देखे गए हैं। जिन लोगों ने अभी तक दूसरा डोज नहीं लगवाया है, वह किसी भी बूथ पर जाकर दूसरी डोज का टीका लगवाना सुनिश्चित करें।

14.32 लाख को लगी है पहली डोज

जिले में अब तक 14.32 लाख लोगों को कोविड टीके की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इसमें 45 साल व उससे अधिक आयु वर्ग के 4.86 लाख लोग 006 व 18 साल वाले 6.36 लाख लोगों को पहली डोज लगी है। अब तक तीन लाख से ज्यादा लोगों ने निर्धारित समय सीमा पर दूसरी डोज लगवा ली है। दूसरी डोज की तारीख आने पर टीकाकरण में पंजीकृत मोबाइल पर मैसेज भेजा जाता है।


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।