logo
30 सितम्बर 2020
30 सितम्बर 2020

कृषि/बागवानी

1      Next

बस्तीः जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने किसानों से अपील किया है कि रबी फसलों की कटाई के बाद खेतो की गहरी जुताई करें और यह जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से करें, जिससे खेत के....

आगे पढ़ें »

लखनऊः देश के उत्तर पश्चिमी हिस्से के ऊपर केन्द्रित पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले 36 घंटे के दौरान उत्तर प्रदेश के कई इलाकों मे आंधी-पानी के आसार हैं। कुछ जगहों पर ओले भी....

आगे पढ़ें »

देवरिया (ओपी श्रीवास्तव) उप कृषि निदेशक डा० ए०के० मिश्र ने बताया है कि आम की अच्छी फसल लेने के लिए किसान भाई इस समय बागों में भुनगा कीट की समस्या से परेशान है। यह कीट न....

आगे पढ़ें »

लखनऊः उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में 26 फरवरी तक अच्छी बारिश दर्ज की गई। 27 फरवरी से समूचे राज्य में मौसम साफ और शुष्क हो गया है। बारिश का अगला दौर उत्तर प्रदेश में 29....

आगे पढ़ें »

आज कृषि उद्योग एवं पेयजल आपूर्ति हेतु विभिन्न आवश्यकताओं के लिए पानी की उपयोगिता बढ़ गई है। पानी को व्यवस्थित ढंग से उपयोग न करने पर जल स्तर में गिरावट भी आ रही है।....

आगे पढ़ें »

बस्तीः (सूचना विभाग) कम पानी एवं सूखे की स्थिति में शरद कालीन गन्ना की बुआई लाभप्रद होती है। उक्त जानकारी जिलाधिकारी डॉ0 राज शेखर ने दी है। उन्होने किसानों को सलाह दी....

आगे पढ़ें »

बाजार में अब वर्ष भर गेंदा के फूलों की डिमांड रहती है। त्योहारों पर प्रतिष्ठानों या घरों की सजावट करनी हो, या फिर वैवाहिक कार्यक्रम हों, बिना फूलों के पूरे नहीं हो....

आगे पढ़ें »

नैचुरल प्रोडक्ट और मेडिसिन का बाजार इतना बड़ा है कि इसमें लगने वाले नैचुरल प्रोडक्ट्स हमेशा डिमांड रहती हैं, क्यों ना मेडिसिनल प्लांट की खेती के बिजनेस में भाग्य आजमाया....

आगे पढ़ें »

गाजीपुर व्यूरो (विकास राय) गाजीपुर एवं बलिया जनपद में इस समय गंगा के रेत पर तपती हुई गर्मी के बावजूद मौसमी फल एवं सब्जी ककडी, खीरा, तरबूज एवम नाशपाती, लौकी की उपज काफी....

आगे पढ़ें »

गाजीपुर जनपद के मुहम्मदाबाद तहसील के बाराचंवर ब्लाक के उतरांव चवरां गांव के निवासी मोतीचंद यादव फूलो की खेती कर इस समय अपने जीवन की बगिया को महकाने में लगे है। इस खेती....

आगे पढ़ें »

भारत में मूली की खेती वर्षभर की जाती है। यह बीज बोने के 1 महीने बाद तैयार हो जाती है। मूली की फसल से 2 महीने बाद खेत खेत खाली हो जाता है। मूली की खेती ठंडे इलाकों से ले....

आगे पढ़ें »

बुआई का समयः उत्तर भारत में इसकी बिजाई फरवरी व मार्च के अलावा जून व जुलाई में की जा सकती है। 5 किलोग्राम बीज प्रति हेक्टेयर डाला जाता है। नालियों के बीच 1.5 मीटर एवं....

आगे पढ़ें »

भिंडी की अगेती फसल लगाकर किसान अधिक लाभ कमा सकते हैं। भिंडी की खेती पूरे देश में की जाती है, किसान फरवरी से मार्च तक अगेती किस्म की भिंडी बो सकते हैं। इसकी तैयारियों के....

आगे पढ़ें »

उत्तर भारत विशेषकर उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और ओडिशा में फलों के राजा आम के तैयार होने के साथ ही आने वाले सप्ताह में देश के विभिन्न हिस्सों में इसके व्यापार के....

आगे पढ़ें »

भारतीय मौसम विभाग ने इस साल देश में अच्छी बारिश होने का अनुमान किया है। मौसम विभाग के अनुसार देश में सामान्य से 96 फीसदी बारिश हो सकती है। हालांकि अगस्त के बाद अलनीनो....

आगे पढ़ें »

मुंबई: कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज कहा कि 500 रुपए और 1,000 रुपए के नोटों के चलन से बाहर किए जाने के कारण महाराष्ट्र में बीजों और उर्वरकों की बिक्री....

आगे पढ़ें »

भारत में पशुपालन को किसानों की समृद्धि से जोड़कर देखा जाता था। जिस किसान के दरवाजे पर पशुओं की अच्छी संख्या होती थी उसकी खेती किसानी देखने लायक होती थी। तेजी से बदलते....

आगे पढ़ें »

एक पौधे से उगाई 1000 लौकियां, खेती कर हर साल कमाते हैं 4 से 5 लाख रुपए (एक दशक से ताराचंद बेलजी जी ने जैविक खेती पर रिसर्च और प्रयोग कर एक मिसाल कायम की है) ताराचंद....

आगे पढ़ें »

कम लागत, कम मेहनत और मुनाफा कई गुना। सुनने में भले अटपटा लगे लेकिन तुलसी की खेती करने वाले किसान इसकी हकीकत जानते हैं। तुलसी आमतौर पर घरों के आंगन में दिखाई देती है।....

आगे पढ़ें »

नई दिल्ली: (माध्यम पंजाब केसरी) देश में खराब मानसून और बेमौसम बरसात के बावजूद देश का बागवानी उत्पादन लगातार तीसरे वर्ष 2014-15 में खाद्यान्न उत्पादन से 10 प्रतिशत अधिक....

आगे पढ़ें »

1      Next