logo
30 सितम्बर 2020
30 सितम्बर 2020

मनोरंजन, खेल, सिनेमा, छोटा परदा

फिल्म ताना बाना के कलाकर उत्कर्ष से एक मुलाकात

Posted on: Sun, 17, Nov 2019 11:11 PM (IST)
फिल्म ताना बाना के कलाकर उत्कर्ष से एक मुलाकात

वाराणसीः (शिवम सिंह चौहान) वाराणसी के रहने वाले उत्कर्ष श्रीवास्तव बॉलीवुड में अपनी पहचान बना रहे हैं। वे वर्तमान में मुम्बई में रहकर अभिनय कर रहें हैं। इन्होंने बनारस के ही क्वीन्स कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी की और यहीं से 2011 में रंगमंच की शुरुआत की। नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा और देश के कई चर्चित निर्देशकों के साथ कार्य किया उसके बाद आप 2013 में मुम्बई शिफ़्ट हो गए और रंगमंच तथा फ़िल्मों से जुड़े रहे।

2019 में गोवा में होने वाले फ़िल्मों के महाकुम्भ में इनकी फ़िल्म “ताना-बाना“ को विशेष स्थान प्राप्त हुआ है।ं भारत से चयनित कुल 26 फ़िल्मो में से ये भी एक है। ताना-बाना के निर्देशक रितेश शर्मा हैं। उत्कर्ष ने बताया कि सज्जाद ख़ान के साथ गोदान नाटक के रिहर्सल के दौरान मुझे सज्जाद दा ने ही बताया कि बनारस के ऊपर एक फ़िल्म बन रही है जाके मिल लो। उन्होने मुझे रितेश सर का नम्बर दिया और उनको मेरा नम्बर दिए। फिर हमारी बात हुई और 7 बार ऑडिशन के बाद फ़िल्म मेरी झोली में आई।

फ़िल्म शुरू होने से पहले वर्कशॉप और शूटिंग के दौरान के एक्सपीरियंस को भी उत्कर्ष ने शेयर करते हुए कहा वर्कशॉप के दौरान टास्क दे दिया जाता था, कभी कभी इसे पूरा करने में पूरा दिन और पूरी रात लग जाती थी। पूरे रात घाटों पे बैठा रहता था, हूँ तो मैं बनारस से ही पर इस तरह का ये मेरा पहला अनुभव था। गंगा में नाव चलाना सीखा, मैंने ठंड के दिनों में तैराकी सीखी, उसके पहले तक मुझे तैरना नहीं आता था, पानी से बहुत डर लगता था। पूरी टीम बहुत ही सपोर्टिव थी। सभी परिवार की तरह काम करते थे। उत्कर्ष ने फ़िल्म के निर्देशक और पूरी टीम का धन्यवाद ज्ञापन किया, सबको बधाई दी और आगामी प्रोजेक्ट के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं दी।