• Subscribe Us

logo
27 सितम्बर 2022
27 सितम्बर 2022

विज्ञापन
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।
समाचार > संपादकीय

कुछ स्थानों पर पहुंचकर हांफ क्यों जाता है बुलडोजर ?

Posted on: Sat, 28, May 2022 8:32 PM (IST)
कुछ स्थानों पर पहुंचकर हांफ क्यों जाता है बुलडोजर ?

बस्तीः शहर में अतिक्रमण हटाओ अभियान महज औपचारिता तक सिमट कर रह गया है। कुछ दिनो पहले जहां जेसीबी लगाकर अतिक्रमण हटवाये गये थे वहां फिर से अतिक्रमण हो गया है। अफसर उसी रास्ते से आते जाते हैं लेकिन कोई रोकटोक नही हुआ। यह स्थिति न्याय मार्ग, कटरा पानी की टंकी, काली मंदिर, महिला अस्पताल गेट सहित कई स्थानों की है।

दो दिन पहले रौता चौराहे पर अचानक बुलडोजर पहुंचा तो हड़कम्प मच गया। यहां मंदिरों, दवा की दुकानों, ने जबरदस्त तरीके से अतिक्रमण कर रखा है। लोगों की जुबान पर एक ही बात थी, ‘‘आज लगता है इन्तेहां हो जायेगी’’। लेकिन सड़क किनारे लगी आधी होर्डिंग, दवा की दुकान के 10 फिट पीछे लगी कई दुकानों के कब्जे हटवाये गये। अति प्रभावशाली कही जाने वाली फार्मेसी की दुकान की सीढ़ी तोड़कर औपचारिकता निभाई गयी। दरअसल यहां इमानदारी से अतिक्रमण हटाया जाये तो दो धर्मस्थलों, पुलिस चौकी, फार्मेसी की दुकान व कई आपत्तिजनक निर्माण नेस्तनाबूत हो जायेंगे। लेकिन किसी को छुआ तक नही गया।

कुछ देर बाद स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली। आपको बता दें आये दिन रौता चौराहे पर जाम लगता है, यहां कई जानलेवा हादसे भी हुये हैं। सही हाल गांधीनगर, कम्पनी बाग और सुबाष तिराहे से लेकर कम्पनी बाग पुलिस चौकी के बीच की है। यहां निजी प्रभावशाली प्रतिष्ठानों के अलावा प्रशासनिक स्तर पर भी ऐसे निर्माण किये गये हैं जो ट्राफिक जाम का कारण बनते हैं। आधी अधूरी या पक्षपातपूर्ण कार्यवाही पर सवाल उठने लाजिमी हैं। वी मार्ट के आसपास, गांधीनगर जैसे स्थानों पर बुलडोजर पहुचने से पहले हांफ जाता है।

दोहरे मापदंडों का नतीजा है कि नेबुलवा ताल, पाण्डेय पोखरा सहित कई अन्य स्थानों पर बेशकीमती जमीने माफियाओं के कब्जे में हैं किन्तु प्रशासन के निशाने पर पान की गुमटियां, मोची और छोटे छोटे व्यवसाई हैं जिनकी रोजाना की आमदी 500 से ज्यादा नही है और उनका पूरा कुनबा इसी व्यवसाय पर निर्भर है। बेहतर होगा एक ऐसी नीति बनाई जाये जिसमे शहरी क्षेत्र का विकास हो, वेण्डिंग जोप सक्रिय किये जायें और नगरपालिका क्षेत्र में नये व्यवसायिक काम्प्लेक्स बनवाकर व्यापार का एक अच्छा माहौल दिया जाये। दण्डात्मक कार्यवाही से पहले सुधार और विस्तार की नीति अपनाई जाये तो ये शहर भी सुन्दर, व्यवस्थित हो जायेगा और किसी परिवार का निवाला भी नही छिनेगा। फोटो अनिल श्रीवास्तव


ब्रेकिंग न्यूज
मीडिया दस्तक में आप का स्वागत है।