logo
14 अप्रैल 2021
14 अप्रैल 2021

समाचार > संपादकीय

1  2 3 4 5 6 7     Next

बस्तीः पुलिस पर लगे दाग सर्फ एक्सेल भी नही हटेंगे। पिछले एक साल में जनपद पुलिस के कारनामे पूरे प्रदेश को हैरान कर रहे हैं। लोग कहते हैं गलतियों से सबक लिया जाता है....

आगे पढ़ें »

UP सरकार के 4 साल पूरे होने पर प्रभारी मंत्री जिलों में जाकर उपलब्धियां गिना रहे हैं। जबकि किसानों, नोजवानों की बदहाली, महिलाओं में असुरक्षा का भय, रिकार्डतोड़....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव की संपादकीयः पिछले सालों की तरह आज दुनियां विश्व महिला दिपस मना रही है। फेसबुक से लेकर विविध आयोजनों तक, बाहर की दुनियां से लेकर बेडरूम तक आज तक हर जगह....

आगे पढ़ें »

बस्तीः जिला प्रशासन का बुलडोजर इन दिनों कहर बरपा रहा है। ये कहर उन पर है जो सड़क किनारे दुकानें लगाकर कई दशकों से अपना परिवार चला रहे हैं। पिछले दो सालों में जिला....

आगे पढ़ें »

बस्ती जनपद में गांजे की खरीद फरोख्त धड़ल्ले से हो रही है। मजे की बात ये है कि पुलिस थानों के इर्द गिर्द भी गांजे की बिक्री होती है। कारोबारी दबी जुबान से कहतें हैं कि....

आगे पढ़ें »

हम हमेशा कहते आये हैं कि 75 फीसदी अपराध पुलिस की वजह से हैं। फर्जी मुकदमों में निर्दोषों को फसाना, आपराधिक मामलों में अक्सर गलत का पक्ष लेना, रिश्वत लेकर मनमानी करना और....

आगे पढ़ें »

आज समूचा देश राष्ट्रीय मतदाता दिवस मना रहा है। निष्पक्ष चुनाव कराकर लोकतांत्रिक सरकार चुनने के लिये साल 1950 में 25 जनवरी को ही ‘भारत निर्चाचन आयोग’ का गठन हुआ था। 25....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव की संपादकीयः मुरादनगर मामला भ्रष्टाचार का ज्वलन्त उदाहरण है, सरकार ने अपनी छबि खराब होता देख आनन फानन में कार्यवाही कर दी। लेकिन कमीशनखोरी का मामला जो....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव की संपादकीयः कोर्ट के आदेश पर ही सही, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अच्छी पहल की है। जाति का बोर्ड लगाकर संचालित किये जा रहे वाहनों का एमवी एक्ट की धारा....

आगे पढ़ें »

कृषि कानून के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसान पूरी तरह से तैयार होकर अहंकारी सरकार को सबक सिखाने निकले हैं। अभी तक कि रिपोर्ट है कि बैरिकेड्स, पानी की बौछार, कंटीले....

आगे पढ़ें »

बस्ती, उ.प्र. (अशोक श्रीवास्तव) उत्तर प्रदेश की मौजूदा सरकार जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों को छीनने के लिये हर संभव कदम उठा रही है। जिलों में बैठे प्रशासनिक अधिकारी भी....

आगे पढ़ें »

रावण फिर मारा गया, काश! उसं मारने वाले राम होते। सीधी सपाट भाषा में कहें तो रावण को मारने का हम सिर्फ उसे है जिसके भीतर बुराइयां न हों या फिर वह अपनी खुद की बुराइयों पर....

आगे पढ़ें »

हमारे देश में न्यायिक प्रक्रिया इतनी जटिल और लम्बी होती जा रही है कि न्याय खुद दम तोड़ता नजर आ रहा है। मुकदमा लड़ने में पीढ़ियां खत्म हो जाती हैं। कितनों की हैसियत भी खत्म....

आगे पढ़ें »

उत्तर प्रदेश में धीरे धीरे लोकतंत्र को खत्म किया जा रहा है। दोहरे मापदंड का तो इतिहास बन रहा है। सत्ताधारी दल के नेता या कार्यकर्ता कोई कार्यक्रम आयोजित करते हैं तो....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव- शिक्षक तनख्वाह के लिये पढ़ा रहा है और विद्यार्थी नौकरी पाने के लिये पढ़ रहा है। इसी सीमित सोच के कारण गांधी, सुबास, आजाद और विवेकानंद के सपनों का भारत....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव- देश की जीडीपी ने हतप्रभ कर दिया। 40 में पहली बार इतनी बड़ी गिरावट देखी गयी है। सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे हैं वाकई मोदी का कोई विकल्प नही है। अंधभक्त इस....

आगे पढ़ें »

अशोक श्रीवास्तव- यूपी में हत्याओं और बलात्कार का दौर जारी है। ताबड़तोड़ हत्यायें हो रही है। सुरक्षा के नाम पर नागरिक भयभीत हैं, पुलिस और पत्रकारों की हत्या ने कानून की....

आगे पढ़ें »

बस्तीः प्रशासनिक उदासीनता और जनप्रतिनिधियों की संवेदनहीनता के चलते जनपदवासियों को खराब रास्तों का दंश झेलना पड़ रहा है। ब्लाक रोड, मालवीय रोड, पचपेड़िया रोड सहित अनगिनत....

आगे पढ़ें »

कोरोना मरीजों का विवरण और जानकारी छिपाना देश पर बहुत भारी पड़ेगा। प्रशासनिक अधिकारियों और सरकार के गठजोड़ ने मरीजों की जानकारी सार्वजनिक न करके बहुत बड़े खतरे को दावत दिया....

आगे पढ़ें »

कानपुर जनपद में थाना चौबेपुर के विकरू गांव में गुरुवार की रात हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे को पकड़ने गयी पुलिस टीम के 8 जवानों को बदमाशों ने गोलियों से छलनी कर दिया जिसमे....

आगे पढ़ें »

1  2 3 4 5 6 7     Next